आपदा विभाग ने अर्थ नेटवर्क कंपनी के साथ किया करार

पटना बिहार विविध

पटना : विगत वर्षों वज्रपात की घटनाओं में वृद्धि हुई है,जिस कारण काफी संख्या में मानव क्षति हुई है, वर्ष 2016, 2017 एवं 2018 में वज्रपात के कारण बिहार में मृत व्यक्तियों की संख्या क्रमशः107,180 एवं 139 है|चालू वर्ष 2019 में अबतक कुल 172 व्यक्तियों की मृत्यु की सूचना प्राप्त हुई है,जिसमें एक दिन में सर्वाधिक 23 जुलाई 2019 को 39 व्यक्तियों की हुई मृत्यु शामिल है|

वज्रपात पूर्व चेतावनी प्रणाली की स्थापना आंध्रप्रदेश, कर्नाटक, ओडिसा,पश्चिम बंगाल राज्यों में है,आंध्रप्रदेश,पश्चिम बंगाल एवं ओडिसा में इसकी स्थापना अर्थ नेटवर्क कंपनी के साथ नामांकन के आधार पर किया गया है|बिहार राज्य में वज्रपात से होने वाले मृत्यु की दर में कमी लाने के लिए वज्रपात पूर्व चेतावनी प्रणाली के स्थापना हेतु 14अगस्त 2019 को आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा अर्थ नेटवर्क कंपनी के साथ चार वर्षो के लिए करार किया गया|जिसके तहत अर्थ नेटवर्क कंपनी द्वारा राज्य में वज्रपात पूर्व चेतावनी प्रणाली की स्थापना की जायेगी एवं किसी भी स्थान विशेष पर वज्रपात की सूचना 30 से 45 मिनट पूर्व दी जायेगी|मोबाईल ऐप के माध्यम से लोगों तक सूचना प्रेषण हेतु कीहु साॅल्युसंन्स बेंगलुरू के साथ करार किया गया|

साथ ही एसएमएस के माध्यम से लोगों तक सूचना प्रेषण हेतु मोबाईल सर्विस प्रोवाइडर कम्पनियों के साथ अलग से वार्ता की जायेगी|आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से अपर सचिव एम रामचन्द्रुडु  एवं अर्थ नेटवर्क कंपनी की ओर से अरी डेवीडाॅव निदेशक इंटरनेशनल बिजनेस के द्वारा करार पर हस्ताक्षर किया गया|इस अवसर पर प्रधान सचिव आपदा प्रबंधन विभाग प्रत्यय अमृत द्वारा आशा व्यक्त की गयी कि राज्य में वज्रपात एवं आपदा पूर्व चेतावनी प्रणाली की स्थापना से निश्चित रूप से वज्रपात से होने वाली मानव क्षति को कम करने में सहायता मिलेगी|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *