ओलेक्स के विज्ञापनदाताओं को फंसाकर लूटने वाले धराए

पटना बिहार विविध

पटना। ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी ओलेक्स पर गाड़ी बेचने का विज्ञापन देने वाले लोगों को फंसाकर लूटने वाले दो शातिरों मो. कामरान उर्फ आमिर उर्फ एहतेशाम आलम उर्फ राजा उर्फ मदन और सरोज अख्तर उर्फ बाबा को पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से लूटी गई कार, दो बाइक, चोरी की एक मोबाइल और फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस बरामद किया गया है ।
एसएसपी गरिमा मलिक ने शनिवार को प्रेस वार्ता में बताया कि एक जून को इन शातिरों ने धनरुआ के दोस्त मोहम्मदपुर के रहने वाले शैलश कुमार से ओलेक्स के जरिए ग्राहक बनकर कांटैक्ट किया था । गाड़ी लेकर उन्हें पुनपुन इलाके में बुलाया था । वहीं उनकी गाड़ी को लूट लिया और फरार हो गए । इन शातिरों के खिलाफ दानापुर, कोतवाली, अगमकुआं, कदमकुआं, फुलवारी शरीफ और हाजीपुर सदर सहित कई थानों में एफआईआर दर्ज है ।


वहीं 28 जून को दिनदहाड़े एलआईसी एजेंट हरेंद्र नाथ तिवारी के घर डाका डालने वाले दो अपराधियों जितेंद्र कुमार उर्फ विकास कुमार कुशवाहा को बिहार शरीफ से और अनुज कुमार उर्फ टुकटुक उर्फ छोटू को मीठापुर बस स्टैंड के पास से गिरफ्तार किया है। इन दोनों से पहले पुलिस ने अजय पांडेय को गिरफ्तार किया था। उसी की निशानदेही पर दोनों को दबोचा गया। हरेंद्र नाथ तिवारी के घर वालों को बंधक बनाकर 1 लाख 30 हजार समेत लाखों की ज्वेलरी लूट कर अपराधी फरार हो गए थे । अनुज के पास से एक लोडेड पिस्टल भी मिला है. जितेंद्र की निशानदेही पर पुलिस ने कंकड़बाग में उसके किराए के मकान में छापेमारी की और 5 लाख रुपए बरामद किया । लूट और डकैती के मामले में अनुज पहले भी जेल जा चुका है ।

इधर चोरी की तीन बाइक के साथ पुलिस ने दस अपराधियों को रामकृष्ण नगर इलाके से गिरफ्तार किया है। दबोचे गए अपराधियों में सन्नी कुमार, विशाल कुमार, मोनू कुमार, सतीश कुमार, रोहित कुमार, विक्की कुमार, मनीष कुमार, उपेंद्र राय, ललन दास और चुन्नी लाल हैं. अधिकतर अपराधी रामकृष्ण नगर के रहनेवाले हैं। कुछ वैशाली के राघोपुर के हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *