आईजीआईएमएस में पांच सौ बेडों का मुख्यमंत्री ने किया गया शिलांयास

पटना बिहार विविध

पटना। इंदिरा गांधी आर्युविज्ञान संस्थान के विस्तारीकरण के तहत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने अस्पताल परिसर में 500 बेड़ो की क्षमता वाले भवन निर्माण का शिलान्यास किया। इनके तहत परिसर में 6 मंजिल की इमारत का निर्मण होगा। जिसकी लागत करीब 284.18 करोड़ होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमलोगों का लक्ष्य आईजीआईएमएस को 2500 बेड का अस्पताल बनाना है। 1200 बेड का भी डीपीआर बनकर तैयार है, जल्द ही स्वीकृत कर उसका भी टेंडर किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि आईजीआईएमएस के और विस्तारीकरण की सोच हमलोगों ने पहले से बना रखी है। यहां कैंसर संस्थान भी कार्य कर रहा है। अन्य प्रकार की बीमारियों का भी इलाज बेहतर तरीके से किया जा रहा है। यहां के निदेशक पूरी गंभीरता और निष्ठा के साथ काम कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी रूचि आईजीआईएमएस को एम्स दिल्ली की तरह बनाना है। हालांकि आईजीआईएमएस का निर्माण बेहतर उद्देश्य के साथ किया गया था लेकिन इसकी स्थिति धीरे-धीरे बिगड़ती गयी। नवम्बर 2005 में सरकार में आने के बाद हमलोगों ने आईजीआईएमएस के विस्तार के लिए फंड का आवंटन शुरू किया। आईजीआईएमएस की सक्रियता बढ़ी है और अब ज्यादा संख्या में यहां मरीज इलाज के लिये आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि डॉक्टरों, नर्स, पारा मेंडिकल स्टाफ, प्रशासनिक अधिकारी, विशेषज्ञों एंव अन्य जरूरठों के लिए राज्य सरकार संसाधन उपलब्ध कराने में पीछे नहीं रहैगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पीएमसीएच राज्य का पुराना आैर प्रतिष्ठित अस्पताल रहा  है, जहां नेपाल, पूर्वी यूपी, असम और दूसरे राज्य के मरीज इलाज के लिये पहले आते थे। हमलोग फिर से पीएमसीएच को एक आदर्श अस्पताल के रूप में बनाना चाह रहे हैं। इस मौके पर बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने कहा कि सरकार अभी इस अस्पताल के बेड़ो की संख्या को और बढ़ाने के लिए विचार कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *