murder

कपड़ा व्यवसायी , पत्नी व बेटी की हत्या, बेटा घायल

अपराध पटना बिहार

पटना। कोतवाली थाने के किदवईपुरी में मंगलवार को राजधानी के बड़े कपड़ा व्यवसायी निशांत सर्राफ (42 वर्ष)उसकी पत्नी अल्का सरॉफ (37 वर्ष) व बेटी अन्या (नौ बर्ष) की सिर में गोली मारकर हत्या कर दी गयी। वहीं चार साल के बेटे ईशांत को सिर में गोली लगी है। उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उसकी स्थिति काफी नाजुक बनी हुई है। हालांकि पुलिस का कहना है कि प्रथम दृष्टया हत्या व आत्महत्या का मामला प्रतीत होता है। निशांत ने पहले पत्नी, बेटी व बेटे को गोली मार दी, उसके बाद खुद सिर में गोली मारकर आत्महत्या कर ली। पुलिस को निशांत के कमरे से सुसाईड नोट भी मिला है जिसमें उसने तीनों को गोली मारने के बाद खुद को गोली मारने की बात लिखी है। हालांकि सुसाईड नोट उसी ने लिखी है या इसे दूसरा रुप देने के लिए शातिर अपराधियों ने कोई चाल चली है। पुलिस पूरे मामले को गंभीरतापूर्वक जांच कर रही है। छानबीन में जमीन व संपत्ति विवाद भी सामने आयी है।
भाईयों के साथ रहता था निशांत का परिवार
निशांत अपने दो भाईयों व माता-पिता के साथ संयुक्त परिवार में किदवईपुरी स्थिति अपने निजी आवास में रहता था। निशांत व उसके भाईयों का खेतान मार्केट में कपड़े की दुकान, बोरिंग रोड में ज्वेलरी की दुकान व नाला रोड भी भी कारोबार है। निशांत व उसके परिवार की गिनती राजधानी के बड़े व्यवसायियों में होती है।


पुलिस ने जब उसके भाईयों व उनकी पत्नियों से पूछताछ की तो उन लोगों ने बताया कि निशांत व उसका परिवार करीब सप्ताहभर पहले ही गर्मी की छुट्टी बीता कर घर आये थे। सोमवार की रात निशांत अपनी पत्नी व बेटे ,बेटी के साथ खाना खाने के बाद अपने कमरे में सोने चला गया था। मंगलवार की सुबह आठ बजे तक जब सभी नहीं उठे तो परिजनों ने दरवाजा खटखटाया। आवाज नहीं आने पर दरवाजे को तोड़ दिया। अंदर देखा तो निशांत उसकी पत्नी व बेटी की लाश बिस्तर पर पड़ी थी ,वहीं बेटे को सिर में गोली लगी थी और वह तड़प रहा था। बेटे को तुरंत इलाज के लिए निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। सभी के सिर में गोली लगी है।
गोली की आवाज क्यों नहीं दी सुनाई
परिजनों ने जब यह पूछा गया कि रात में गोली चली तो किसी को इसकी आवाज तक सुनायी क्यों नहीं दी। इसका जबाव परिजन नहीं दे सके। एक-दो नहीं तीन-चार गोलियां चली होगी मगर बगल के कमरे में रहनेवाले उसके भाईयों को इसकी आवाज क्यों नहीं सुनायी दी, इसी से मामला थोड़ा संदिग्ध प्रतीत होता है। छानबीन में यह भी पता चला है कि परिजनों में संपत्ति व जमीन को लेकर विवाद था। तीनों की हत्या की गयी या निशांत ने यह आत्मघाती कदम उठाया, इसका पता गंभीरतापूर्वक जांच से ही चल पायेगा। सिटी एसपी (_मध्य) पीके दास ने बताया कि अभी कुछ कहना मुश्किल है। जांच के बाद ही पूरे मामले का खुलासा हो पायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *