बेटे ने की थी बुर्जुग दंपत्ति की हत्या ,गिरफ्तार

बिहार

पटना। एकलौते बेटे निप्पू ने ही अपनी बुर्जुग माता -पिता को गला दबाकर मौत के घाट उतार दिया था। हत्या में उसका साथ उसकी पत्नी व बेटे ने भी दिया था। हत्या के मूल में संपत्त्ति है। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया है। तीनों ने हत्या की बात कबूल कर ली है। बुजुर्ग संपत्ति की लाश गुरुवार को रामकृष्ण नगर थाने के शिवाजी चौक स्थित घर में मिली भी । रिटायर्ड फिजिकल टीचर ब्रज किशोर प्रसाद और 68 साल की उनकी पत्नी कमल लता सिन्हा उसी मकान में रहते थे । लता सिन्हा के भतीजे सतीश के बयान पर रामकृष्णा नगर थाना में हत्या का मामला दर्ज की गई है। ब्रज किशोर प्रसाद हर दिन सुबह उठते ही दूध लाने जाते थे। इसी वक्त को उनके बेटे और उसके परिवार ने चुना।
सुबह 6:30 बजे के करीब निप्पू सेकेंड फ्लोर से फर्स्ट फ्लोर पर आया। पिता के कमरे के गेट को खटखटाया। गेट के खुलते ही बाहर से जोर का धक्का निप्पू ने दिया पिता जमीन पर जा गिरे। उन्हें काफी चोट आई। इस बात को लेकर दोनों के बीच झगड़ा हुआ। तब तक बहू और पोता भी वहां पहुंचे। इन लोगों ने पहले से ही फांसी के फंदे की बना रखा था। उसी को गले में डालकर पिता की हत्या कर दी।
इससे पहले इनका आपस में झगड़ा हुआ था, उसी दरम्यान खून के धब्बे निप्पू, इसकी पत्नी और उसके बेटे की उंगलियों और नाखूनों में लग गए थे। पिता की हत्या के बाद ही मां कमल लता सिन्हा की भी उसी तरीके से हत्या कर दी। बाद में सभी रिश्तेदारों और पुलिस को कोरोना के नाम पर बरगलाने की काफी कोशिश की थी। अब इन तीनों को पुलिस जेल भेज रही है।
आर्थिक तंगी में था निप्पू
पुलिस के सामने निप्पू ने संपत्ति विवाद की बात तो मानी ही, साथ ही यह भी बताया कि घर खर्च के लिए उसे पिता से रुपए नहीं मिलते थे। जो किराएदार उसने घर में रखे थे, उसे पिता ने हटा दिया था। ऑटो चलाने से घर का खर्च निकल नहीं रहा था। इन्हीं वजहों से मामला बिगड़ गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *