पति-पत्नी की सरकार में भयभीत थी जनता: नीतीश कुमार

पटना बिहार विविध

पटना । मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को पति-पत्नी शासन की याद दिलायी। कहा कि आज अपराधी भयभीत हैं जबकि पहले जनता भयभीत रहती थी। अब न कहीं नरसंहार होता है न कहीं अपहरण। लोग निर्भीक होकर निवेश कर रहे हैं। अपराध के मामले में बिहार देश में 23वें नम्बर पर है। 

नवीनगर, राजपुर, करगहर व दिनारा में एनडीए प्रत्याशियों के समर्थन में आयोजित सभाओं को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पति-पत्नी की सरकार में व्यवसायी व डॉक्टर असुरक्षित महसूस करते थे। उन्हें दूसरी जगहों पर भागना पड़ता था। उन्हें काम करने में दिक्कतें हो रही थी। कुछ लोग माल भी वसूलते थे। मेरी सरकार सत्ता में आयी तो इनमें से कई लोग लौट कर आए, जिसे मैंने पटना में सम्मानित किया। उन्होंने लोगों को आगाह भी किया कि फिर मतदान देने में गलती हुई तो वही होगा। 

उन्होंने कहा कि कुछ लोगों के लिए अपना परिवार ही सब कुछ है। लेकिन, मेरे लिए पूरा बिहार ही परिवार है। शुरू के पांच साल में जितना काम किया, उसके बाद दूसरे पांच साल में उससे अधिक व उसके अगले पांच साल में उससे भी अधिक काम किया। अभी और बहुत कुछ करना बाकी है। बावजूद इसके कुछ लोग भ्रम पैदा करते रहते हैं। बिना वजह कुछ न कुछ बयान देते रहते हैं।

उन्होंने कहा कि युवाओं को आगे बढ़ाने के लिए इंजीनियरिंग, पॉलिटेक्निक, जीएनएम, महिला आईटीआई, एएनएम सहित कई संस्थान खोले गए। पहले बिहार के छात्रों को पढ़ने के लिए बाहर जाना होता था। लेकिन, उन्हें बिहार में सभी प्रकार की सुविधाएं दी जा रही है। पढ़ाई के लिए स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड व आमदनी के लिए कुशल युवा कार्यक्रम के तहत कौशल प्रशिक्षण। अब युवाओं को हर नई टेक्नोलॉजी का प्रशिक्षण दिलाएंगे। इससे उनकी व्यापार व आमदनी बढ़ेगी। 

हर क्षेत्र में हुआ है न्याय के साथ विकास 
नवीनगर के अनुग्रह नारायण स्टेडियम की सभा में मुख्यमंत्री ने कहा कि फिर मौका मिला तो अब इंटर पास छात्राओं को 25 हजार और ग्रेजुएशन पास छात्राओं को 50 हजार रुपये की सहयोग राशि दी जाएगी। हर क्षेत्र में न्याय के साथ विकास हुआ है। महिलाओं को सरकारी सेवा से लेकर जन प्रतिनिधित्व के लिए 50 प्रतिशत का आरक्षण दिया गया है। 15 साल पहले की सरकार में बिहार पुलिस में महिला पुलिस का घोर अभाव था। जबकि आज महिला पुलिस गांव से लेकर शहर तक मौजूद हैं। कहा कि अभी बिहार की आमदनी प्रतिवर्ष 4 लाख 14 हजार 977 करोड़ रुपये है, जबकि पूर्व की सरकार की आमदनी मात्र 76 हजार 466 करोड़ रुपये थी। उन्होंने समृद्ध एवं सुरक्षित बिहार बनाने के लिए एनडीए गठबंधन के पक्ष में मतदान करने की अपील की। मौके पर जदयू के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौधरी समेत अन्य नेता और प्रत्याशी मौजूद रहे।

पति-पत्नी की सरकार में व्यवसायी व डॉक्टर थे असुरक्षित : नीतीश
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि पति-पत्नी की सरकार में व्यवसायी व डॉक्टर असुरक्षित महसूस करते थे। उन्हें दूसरी जगहों पर भागना पड़ता था। उन्हें काम करने में दिक्कतें हो रही थी। कुछ लोग माल भी वसूलते थे। मेरी सरकार सत्ता में आयी तो इनमें से कई लोग लौट कर आए, जिन्हें मैंने पटना में सम्मानित किया। फिर मतदान देने में गलती हुई तो वही होगा।  उक्त बातें राजपुर, करगहर व दिनारा में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कही।
किसी का नाम लिए बगैर उन्होंने कहा कि उनके शासनकाल में नरसंहार होते थे। कई बड़ी घटनाएं होती थी। लेकिन, मैंने कानून का राज स्थापित किया। अपराध की घटनाओं में भारी कमी आयी है। देश में बिहार अपराध के मामले में 23 वें स्थान पर आ गया है। संपत्ति व जमीनी विवाद में कुछ घटनाएं हो रही हैं। इसे रोकने के लिए सर्वे का काम शुरू हो गया है।

उन्होंने युवाओं पर फोकस करते हुए कहा कि उन्हें आगे बढ़ाने के लिए इंजीनियरिंग, पॉलिटेक्निक, जीएनएम, महिला आईटीआई, एएनएम सहित कई संस्थान खोले। पहले बिहार के छात्रों को पढ़ने के लिए बाहर जाना होता था। लेकिन, उन्हें बिहार में सभी प्रकार की सुविधाएं दी जा रही है। पढ़ाई के लिए स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड व आमदनी के लिए कुशल युवा कार्यक्रम के तहत कौशल प्रशिक्षण। अब युवाओं को हर नई टेक्नोलॉजी का प्रशिक्षण दिलाएंगे। इससे उनका व्यापार व आमदनी बढ़ेगी। अच्छा काम करने का मौका मिलेगा। उन्होंने इंटर पास सभी बेटियों को दस से 25 हजार तथा स्नातक पास बेटियों को 25 हजार की जगह 50 हजार रुपए देने की घोषणा की। उन्होंने किसानों को भी साधने की कोशिश की व कहा कि हर खेत तक सिंचाई का पानी पहुंचाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *