पुष्पम प्रिया जदयू के शीर्ष नेताओं को दे रही चुनौती:पिता

पटना बिहार राजनीति

पटना। साल के अंत में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव के लिए खुद को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित कर सुर्खियों में आई पुष्पम प्रिया चौधरी के पिता विनोद चौधरी ने कहा कि मेरी बेटी जदयू के शीर्ष नेताओं को चुनौती दे रही है। इसी वजह से पार्टी मेरी बेटी के फैसले का समर्थन नहीं कर रही। बता दें कि पुष्पम प्रिया चौधरी जदयू के पूर्व एमएलसी विनोद चौधरी की बेटी है। प्रिया ने रविवार को लव बिहार-हेट पॉलिटिक्स शीर्षक से अखबारों में विज्ञापन दिया। इसमें प्रिया ने आगामी विधानसभा चुनाव के लिए खुद को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया। मूलरूप से दरभंगा जिले की रहने वाली प्रिया फिलहाल लंदन में रहती है।

खुद को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार किया घोषित

पत्रकारों से बातचीत के दौरान विनोद चौधरी ने कहा कि खुद को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करना मेरी बेटी का अपना फैसला है। वह इतनी शिक्षित है कि अपने सारे फैसले खुद ले सके। जदयू द्वारा सपोर्ट करने के सवाल पर विनोद ने कहा कि पार्टी मुझे क्यों सपोर्ट करेगी? जदयू के सपोर्ट करने का कोई अधिकार नहीं बनता है। मेरी बेटी पार्टी के शीर्ष नेताओं को चुनौती दे रही है। बता दें विनोद चौधरी 2008 में जदयू की तरफ से एमएलसी बनाए गए थे। विनोद के पिता उमाकांत चौधरी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफी करीबी रहे हैं।

प्लूरल-एवरीवन गर्वन पार्टी का अध्यक्ष बताया

प्रिया के द्वारा दिए गए विज्ञापन में उन्हें ‘प्लूरल-एवरीवन गर्वन ‘ (पार्टी) का अध्यक्ष बताया गया है। इसमें प्रिया का लिखा हुआ एक पत्र भी है। इसमें उन्होंने लिखा- यह पत्र एक मुख्यमंत्री उम्मीदवार अपने साथी नागरिकों को लिख रही है। इसे संभाल कर रखें। क्योंकि, यह आपके बच्चे के बेहतर भविष्य की गारंटी है। जानकारी के मुताबिक, प्रिया ससेक्स यूनिवर्सिटी से डेवलपमेंट स्टडीज में मास्टर्स हैं। उन्होंने लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स एंड पॉलिटिकल साइंस से पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में एमए किया है।

बीएमएसआईसीएल में सीओ के पद पर थी

पुष्पम प्रिया चौधरी बिहार सरकार में मुलाजिम रह चुकी हैं । चौधरी बीएमएसआईसीएल (बिहार मेडिकल सर्विसेज एंड इंफ्रास्टेक्चर कॉरपोरेशन लिमिटेड ) में सीओ के पद पर थी। सन् 2014-15 में मात्र 7 माह की सेवा दे चुकी पुष्पम प्रिया चौधरी की हनक व अनुशासन से कर्मचारी कांप जाते थे। सुत्रों की मानें तो पुष्पम प्रिया चौधरी का सेवा काल के दौरान स्वास्थ्य विभाग से जुड़े कई सीनियर आईएएस तक पहुंच थीं और प्रोजेक्ट पर सहमति रहती थीं । अचानक पुष्पम प्रिया चौधरी ने बीएमएसआईसीएल ने नाता तोड़ दिया और विदेश चली गयी । 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *