प्रशांत किशोर व पवन वर्मा जदयू से निष्कासित

बिहार

पटना। बिहार की सत्ताधारी दल जदयू में काफी दिनों से चल रही खींचतान पर पूर्णविराम लग गया है। जदयू ने पार्टी उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर एवं महासचिव पवन वर्मा को पार्टी से निष्कासित कर दिया है और कहा कि हाल के दिनों में उनके आचरण ने यह स्पष्ट किया है कि वे पार्टी के अनुशासन का पालन नहीं करना चाहते हैं। दोनों नेता नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनपीआर) को लेकर पार्टी अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समर्थन के कारण उनकी आलोचना करते रहे हैं। वहीं, प्रशांत किशोर और पवन वर्मा ने ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए नीतीश कुमार को धन्यवाद दिया है। जदयू के मुख्य महासचिव केसी त्यागी द्वारा जारी बयान के अनुसार दोनों नेताओं का आचरण पार्टी के फैसलों के साथ-साथ उसकी कार्य पद्धति के खिलाफ था, जो अनुशासन का उल्लंघन है। पार्टी ने प्रशांत किशोर पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ अपमानजनक शब्दों के इस्तेमाल का भी आरोप लगाया। बता दें नीतीश कुमार ने मंगलवार को ही पीके के आलोचनात्मक बयान की निंदा करते हुए कहा था कि उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री एवं पूर्व भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के कहने पर उन्हें पार्टी में शामिल किया था। प्रशांत किशोर ने इस पर गुस्से में प्रतिक्रिया दी और नीतीश कुमार पर झूठ बोलने का आरोप लगाया था। जदयू ने कहा कि यह जरूरी है कि प्रशांत को पार्टी से बाहर कर दिया जाए ताकि वह और निचले स्तर पर न गिरें।
दिल्ली चुनाव में साथ प्रचार करेंगे अमित शाह-नीतीश कुमार
इसके बाद खबर ये आई थी कि नीतीश कुमार औ? अमित शाह दिल्ली चुनाव के लिए साझा चुनाव प्रचार करेंगे। दिल्ली में प्रशांत किशोर की कंपनी आई-पैक दिल्ली चुनाव में आम आदमी पार्टी के लिए चुनाव प्रचार कर रहे हैं तो वहीं अब एनडीए के लिए नीतीश कुमार और अमित शाह साथ प्रचार करेंगे। दो फरवरी को दिन के 12 बजे दिल्ली के बुराड़ी में अमित शाह और नीतीश कुमार की साझा रैली होगी।
अजय आलोक ने प्रशांत किशोर को बताया ‘कोरोना वायरस’
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर झूठ बोलने का आरोप लगाने के बाद पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर पर जदयू पूरी तरह से हमलावर हो गयी है। नागरिकता संशोधित कानून, एनआरसी और एनपीआर को लेकर आवाज उठानेवाले पार्टी से निष्कासित जदयू नेता प्रशांत किशोर पर हमला करते हुए जदयू नेता अजय आलोक ने ‘कोरोना वायरस’ करार दिया है। साथ ही उन्होंने प्रशांत किशोर को ‘भरोसे लायक आदमी नहीं’ बताया है। अजय आलोक ने प्रशांत पर हमला बोलते हुए कहा कि ‘यह आदमी भरोसे लायक नहीं है। वे मोदी जी और नीतीश जी का भरोसा नहीं जीत सके। वह आम आदमी पार्टी के लिए काम करते हैं। राहुल गांधी से बात करते हैं और ममता दीदी के साथ बैठते हैं। कौन उन पर भरोसा करेगा? हमे खुशी है कि यह ‘कोरोना वायरस’ हमें छोड़ कर जा रहा है। वह जहां जाना चाहते हैं, जाएं।’
गौरतलब हो कि पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान जदयू ने भाजपा का साथ छोड़कर राजद और कांग्रेस के साथ महागठबंधन बनाया था। उस दौरान प्रशांत किशोर महागठबंधन के रणनीतिकार की भूमिका में थे। वहीं, विदेश सेवा से लौटने के बाद पवन वर्मा जदयू की शीर्ष राजनीति में सक्रिय हुए। विधानसभा चुनाव में महागठबंधन को मिली चुनावी सफलता के बाद दोनों का कद पार्टी में बढ़ा था और दोनों को पार्टी में अहम जिम्मेदारी सौंपी गयी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *