दिन-रात कार्य कर बैरिकेडिंग को शीघ्र पूरा कराएं : आयुक्त

पटना बिहार विविध

पटना। आयुक्त, पटना प्रमंडल, पटना संजय कुमार अग्रवाल ने आज नासरीगंज छठ घाट से दीदारगंज घाट तक छठ घाटों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान आयुक्त के साथ पुलिस महानिरीक्षक केन्द्रीय प्रक्षेत्र श्री संजय सिंह, जिला पदाधिकारी, पटना श्री कुमार रवि, वरीय पुलिस अधीक्षक गरिमा मलिक, नगर आयुक्त, पटना नगर निगम श्री अमित कुमार पाण्डेय, पुलिस अधीक्षक, यातायात श्री डी0 अमरकेश, संबंधित छठ घाट के सेक्टर पदाधिकारी, अधीक्षण अभियंता सिंचाई विभाग, कार्यपालक पदाधिकारी भवन निर्माण विभाग, कार्यपालक पदाधिकारी पटना नगर निगम के साथ अन्य संबंधित पदाधिकारी मौजूद थे।

 छठ घाटों का निरीक्षण के क्रम में आयुक्त ने  सभी घाटों में नदी के अंदर सुरक्षित गहराई तक बैरिकेडिंग का कार्य तेजी से करने का निर्देश दिया। आयुक्त ने नगर आयुक्त, पटना नगर निगम, संबंधित सभी नोडल पदाधिकारी, संबंधित कार्यपालक पदाधिकारी एवं कार्यकारी एजेंसी को निर्देश दिया कि दिन-रात कार्य कर बैरिकेडिंग के कार्यों को शीघ्र पूरा कराएं तथा कार्यों में तेजी लाएं।  निरीक्षण के क्रम में पाया कि घाटों पर वाॅच टावर, चेंजिंग रूम, नियंत्रण कक्ष बनाने का कार्य शुरू हो गया। आयुक्त ने कार्यपालक अभियंता भवन निर्माण विभाग, पटना पटना प्रमंडल को निर्देश दिया कि निर्धारित संख्या में वाच टावर, चेंजिंग रूम एवं नियंत्रण कक्ष का निर्माण से संबंधित सभी कार्य ससमय पूरा करें। आयुक्त ने निरीक्षण के क्रम में सभी सेक्टर पदाधिकारी एवं घाट के लिए चिन्ह्ति पदाधिकारी को निदेश दिया कि वे अपने देख-रेख में घाट पर मूलभूत सुविधाओं के साथ-साथ घाट एवं पहुंच पथ की अपेक्षित मरम्मति तथा रौशनी की व्यवस्था सुनिश्चित करवाएंगे।

 निरीक्षण के क्रम में आयुक्त ने पाया कि कुछ ही घाटों पर वाच टावर लगा हुआ दिखाई पड़ा है। उन्होंने कार्यपालक अभियंता भवन निर्माण विभाग एवं पटना सिटी प्रमंडल को निर्देश दिया कि सभी छठ घाटों पर वाच टावर शीघ्र संस्थापित करें। उन्होंने विधि-व्यवस्था संधारण एवं निगरानी हेतु समाहणालय घाट, महेन्द्रु घाट में 20 वाच टावर निर्माण कराने के साथ-साथ गाँधी मैदान थाना अंतर्गत सिपाही घाट एवं अंटा घाट जो खतरनाक घाट बताया गया है, पर बैरिकेडिंग शीघ्र कराएँ। निरीक्षण के क्रम में आयुक्त ने नगर आयुक्त, पटना नगर निगम को निर्देश दिया कि सभी संबंधित घाटों पर पीला एवं खतरनाक घाटों पर लाल कपड़ा लगाएँ। निरीक्षण के क्रम में घाटों पर पीला एवं लाल कपड़ा लगा हुआ नहीं पाया गया। आयुक्त ने पाया कि छठ घाटों पर लाईट टावर नहीं लगा हुआ है। उन्होंने महाप्रबंधक, पेसू को निर्देश दिया कि छठ घाटों एवं सम्पर्क पथों पर लाईट टावर शीघ्र संस्थापित किया जाए।

पाया कि घाटों पर कार्य कर रहे मजदूरों बिना फ्लोरोसेन्ट जैकेट पहले कार्य कर रहा है। उन्होंने निर्देश दिया कि सभी घाटों पर कार्य कर रहे मजदूर फ्लोरोसेन्ट जैकेट का प्रयोग करें। आयुक्त ने पुलिस अधीक्षक यातायात को छठ महापर्व-2019 के अवसर पर विधि-व्यवस्था संधारण हेतु ट्रैफिक प्लान तैयार करने का निर्देश दिया ताकि श्रद्धालुओं को छठ घाट तक पहुँचने में किसी तरह की असुविधा न हो। आयुक्त ने पुलिस अधीक्षक यातायात को निर्देश दिया कि महापर्व छठ के अवसर पर विभिन्न घाटों मुख्यतः दीघा पाटीपुल घाट से कलेक्ट्रियट घाट तक नदी के किनारे अस्थायी पार्किंग व्यवस्था कराने हेतु स्थल को चिन्हित कर, इन स्थलों पर वाहनों की पार्किंग को व्यवस्थित करने एवं प्रवेश-निकास को रेगुलेट करने हेतु यातायात पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति की जाय।  आयुक्त ने कार्यपालक अभियंता, बिहार राज्य पथ विकास निगम लि0 को निर्देश दिया कि छठव्रतियों एवं श्रद्धालुओ की सुरक्षा के दृष्टिकोण से यह आवश्यक है कि पूर्व से ही यह सुनिश्चित कर लिया जाए कि गंगा पाथ-वे पर कहीं भी कोई ऐसा स्पैन नहीं हो जिससे कि कोई सामग्री इत्यादि के नीचे गिरने की संभावना हो। इसके अतिरिक्त यत्र-तत्र रखे हुए निर्माण सामग्रियों को भी व्यवस्थित करने की आवश्यकता है ताकि उन सामग्रियों के कारण श्रद्धालुओं को आवागमन में किसी प्रकार के व्यवधान की संभावना नहीं रहे। आयुक्त ने महाप्रबंधक पेसू को निर्देश दिया कि छठ व्रतियों एवं उनके परिजनों की सुविधा एवं सुरक्षा के दृष्टिकोण से छठ घाटों के एप्रोच पथ एवं मुख्य पथों में विद्युत के पोल झुके नहीं रहे, लूज वायर कहीं नहीं रहे एवं ट्रांसफार्मर इत्यादि ठीक स्थिति में रहे, सुनिश्चित किया जाए। इसके साथ-साथ पर्व के अवसर पर विद्युत की निर्बाध आपूर्ति भी अतिआवश्यक है।

 आयुक्त ने बताया कि गंगा नदी के घाटों पर जाने हेतु मार्ग में कई स्थलों पर पूर्व से निर्मित पुल-पुलिया का निर्माण पटना नगर निगम द्वारा कराया गया है। सुरक्षा के दृष्टिकोण से इन पुल-पुलियों की मजबूती के साथ-साथ इससे बहने वाले जल की मात्रा इत्यादि की जाँच की जानी आवश्यक है। उक्त परिप्रेक्ष्य में आयुक्त ने अधीक्षण अभियंता जल संसाधन विभाग, कार्यपालक अभियंता, पथ निर्माण विभाग को निर्देश दिया कि गंगा नदी के घाटों के एप्रोच पथ में पूर्व से अथवा वर्तमान में निर्मित सभी पुल पुलियों की जाँच करायी जाए तथा जाँचोंपरान्त एक प्रमाण-पत्र ससमय जिलाधिकारी, पटना को उपलब्ध करायी जाय कि मार्ग में पड़ने वाले सभी पुल-पुलिया सुरक्षित एवं दुरूस्त है। आयुक्त ने नगर आयुक्त, पटना नगर निगम, वरीय पुलिस अधीक्षक, पुलिस अधीक्षक यातायात एवं सभी अनुमंडल पदाधिकारी को निर्देश दिया कि छठ महापर्व, 2019 के अवसर पर छठ घाट से मुख्य मार्ग तक जाने-आने के लिए एप्रोच पथ में वेण्डरों आदि के प्रवेश पर रोक हेतु आवश्यक व्यवस्था ससमय करना सुनिश्चित करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *