जिलाधिकारी ने छठ महापर्व की तैयारियों को लेकर घाटों का किया निरीक्षण

बिहार

पटना। जिलाधिकारी ने बताया कि छठ पर्व आस्था का महापर्व है। छठ व्रतियों एवं श्रद्धालुओं की सुरक्षा एवं सुविधा के लिए सभी छठ घाटों पर बुनियादी सुविधाओं को उपलब्ध कराया जाना है। इस वर्ष छठ महापर्व दिनांक 31.10.2019 को नहाय-खाय से पर्व का अनुष्ठान होगा एवं दिनांक 01.11.2019 को खरना, 02.11.2019 को पहला  एवं 03.11.2019 को दूसरा अर्ध्य सम्पन्न होगा।

 जिलाधिकारी ने बताया कि छठ पर्व 2019 के अवसर पर सम्यक तैयारी के लिए घाटों का निरीक्षण, खतरनाक घाटों की पहचान एवं अन्य सुविधाओं का आकलन कर वित्तीय लागत का अनुमानित करने एवं घाटों पर चल रहे कार्यों का सतत् माॅनिटरिंग हेतु पटना के अवस्थित घाटों को 21 सेक्टर में बांटा गया है तथा जल संसाधन विभाग के द्वारा सात टीम का गठन हुआ है। गंगा घाटों के निरीक्षण के दौरान जिला पदाधिकारी ने कार्यपालक अभियंता जल संसाधन विभाग एवं नगर आयुक्त, पटना नगर निगम को निर्देश दिया कि गंगा जल के जल स्तर एवं घाटों की गहराई का नियमित अनुश्रवण करें। घाट के किनारे नदी की कितनी दूरी पर औसतन 05 फीट की गहराई है इस संबंध में भी आवश्यक प्रतिवेदन दें। जिलाधिकारी ने नगर आयुक्त, पटना नगर निगम को निर्देश दिया कि सभी 91 घाटों पर साफ-सफाई एवं घाटों की तैयारी प्रारंभ कर दें।  जिलाधिकारी ने सभी 21 सेक्टर के नोडल पदाधिकारी, नगर निगम के पदाधिकारी एवं जल संसाधन विभाग के पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि सभी घाटों का स्थल भ्रमण कर घाटों की तैयारी शुरू करें।

 जिलाधिकारी ने कार्यपालक अभियंता जल संसाधन विभाग को निर्देश दिया कि इस वर्ष छठ पर्व के दौरान गंगा नदी का वाटर लेवल अधिक होने की संभावना है। इस परिपेक्ष्य में सभी खतरनाक घाटों को चिन्ह्ति कर उसे लाल कपड़े से खतरनाक घाट अंकित किया जाए। जिलाधिकारी ने छठ घाटों के निरीक्षण के दौरान नगर आयुक्त, पटना नगर निगम को निर्देश दिया कि सभी 91 घाटों की सफाई के साथ-साथ सम्पर्क पथ का निर्माण कार्य प्रारंभ कराएं। घाटों पर सीढ़ी/चाली निर्माण का कार्य प्रारंभ करें। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी श्री कुमार रवि के साथ वरीय पुलिस अधीक्षक गरिमा मलिक, नगर आयुक्त पटना नगर निगम श्री अमित कुमार, उप विकास आयुक्त श्री सुहर्ष भगत, विशिष्ट अनुभाजन पदाधिकारी श्री जैनेन्द्र कुमार, कार्यपालक अभियंता पटना नगर निगम, कार्यपालक अभियंता जल संसाधन विभाग सहित सभी संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *